Sat. Jun 15th, 2024
Principles of working in communities

समाजिक कार्यकर्ता समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाने और लोगों की मदद करने के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इनके पास विशेष गुण होते हैं जो उन्हें इस उत्तम सेवा कार्य में सफलता प्राप्त करते हैं। समाज कार्यकर्ता के पास उदारता, संवेदनशीलता, धैर्य, और सहानुभूति की भावना होती है। वे लोगों की समस्याओं को समझते हैं और उन्हें समाधान के लिए सही मार्गदर्शन करते हैं।

समाज कार्यकर्ता समाज के विभिन्न समूहों और संस्थानों में सहयोग करते हैं और समाज के विकास में अपना योगदान देते हैं। उनकी भूमिका समाज में समृद्धि और समानता को सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण है और वे समाज के साथी के रूप में एक अहम रोल निभाते हैं।

समाजिक कार्यकर्ता किसे कहते हैं ?

समाजिक कार्यकर्ता को एक व्यक्ति कहा जाता है जो समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाने और लोगों की मदद करने के लिए विशेष तौर पर प्रशिक्षित और तत्पर होता है। ये व्यक्ति विभिन्न समाजिक सेवा और कार्यक्रमों में संलग्न होता है और समाज में उस समूह के लोगों के साथ काम करता है जिसकी सेवा और समर्थन की जरूरत होती है। समाजिक कार्यकर्ता विभिन्न समस्याओं का समाधान करने के लिए उदारता, संवेदनशीलता, धैर्य, और सहानुभूति की भावना रखता है। उनका प्रमुख लक्ष्य समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाना होता है और लोगों को समस्याओं के समाधान के लिए मार्गदर्शन करना।

सामाजिक कार्यकर्ता के गुण
समाजिक कार्यकर्ता के गुण

सामान्यतः समाज कार्य के अंतर्गत चार प्रकार के कार्य देखे व समझे जा सकते हैं

उपचारात्मक:  इन कार्यों के अंतर्गत समस्या की प्रकृति के अनुसार चिकित्सीय सेवाओं स्वास्थय सेवाओं में मनोचिकित्सीय एवं मानसिक आरोग्य से सम्बंधित सेवाओं को सम्मिलित किया जा सकता है

सुधारात्मक कार्य: इन कार्यों के अंतर्गत व्यक्ति सुधार सेवाओं तथा समाज  सुधार सेवाओं को  शामिल किया जा सकता है

निरोधात्मक  कार्य : इन कार्य के  अंतर्गत सामाजिक नीतियों.समाजिक परिनियमों ,जन चेतना उत्पन्न करने से सम्बंधित कार्यक्रमों का उल्लेख किया जा सकता है जैसे प्रौढ़ शिक्षा

विकासात्मक कार्य: इसके अंतर्गत आर्थिक  विकास के विविध प्रकार के कार्यक्रम जैसे उत्पादकता की दर में वृद्धि करने, राष्ट्रीय आय तथा प्रति व्यक्ति आय को बढ़ाने आर्थिक लाभों का साम्यपूर्ण वितरण करनेआदि को सम्मिलित किया जा सकता है ।

आइये अब हम समझते हैं कि एक सामाजिक कार्यकर्ता में होने वाले प्रमुख कौन-कौन से गुण होने चाहिये जिन्हें हम अपने अंदर विकसित कर सकते हैं I

समाजिक कार्यकर्ता के प्रमुख गुण

सामाजिक कार्यकर्ता एक व्यक्ति होता है जो समाज में सकारात्मक परिवर्तन और समाज सेवा के प्रति अपने समर्थन और समर्पण के साथ योगदान देता है। एक अच्छे सामाजिक कार्यकर्ता के गुणों में निम्नलिखित चीजें शामिल होती हैं:

  1. समर्पण भाव: अच्छे सामाजिक कार्यकर्ता अपने कार्य को समर्पण भाव से करते हैं और समाज के लाभार्थियों के हित में अपना समय, शक्ति, और संसाधन खर्च करने के लिए संतुष्ट रहते हैं।
  2. संवेदनशीलता: एक समाजिक कार्यकर्ता को लोगों के साथ संवेदनशीलता और सहानुभूति की भावना होनी चाहिए, जिससे वह उनकी समस्याओं को समझ सके और उन्हें सही तरीके से समर्थन प्रदान कर सके।
  3. संवाद कौशल: अच्छे सामाजिक कार्यकर्ता को बेहतर समाधान प्राप्त करने और समाज में जागरूकता फैलाने के लिए अच्छे संवाद कौशल की आवश्यकता होती है।
  4. सहयोगिता: समाजिक कार्य में सफलता के लिए, सामाजिक कार्यकर्ता को अन्य संगठनों, सरकारी अधिकारियों, और सामुदायिक संगठनों के साथ सहयोग और संबंध बनाए रखने की योग्यता होनी चाहिए।
  5. नैतिकता: सामाजिक कार्यकर्ता को अपने कार्य में नैतिक मूल्यों का पालन करना चाहिए। वह सबके हित में काम करना और संबंधों में ईमानदार और विश्वसनीय होने का प्रयास करना चाहिए।
  6. समस्याओं के समाधान की क्षमता: अच्छे सामाजिक कार्यकर्ता को समाज की समस्याओं को समझने और उन्हें समाधान करने की क्षमता होनी चाहिए।
  7. सक्रियता: सामाजिक कार्य में सफलता के लिए, सामाजिक कार्यकर्ता को सक्रिय रहना और नई विचारों और प्रक्रियाओं को अपनाने के लिए तैयार रहना चाहिए।
  8. संगठनात्मक क्षमता: सामाजिक कार्य में सफलता के लिए, सामाजिक कार्यकर्ता को काम को संगठित रूप से प्लान करने और कार्य को समय-समय पर पूरा करने की क्षमता होनी चाहिए।
  9. विश्लेषण व चिंतन: सामाजिक कार्यकर्ता समूह का  व्यक्ति के साथ अवलोकनकर्ता  और मार्गदर्शन  रुप में कार्य करता है। वह  सभी गतिविधियों में अवलोकन करता है । जिससे वह इस तथ्य पर पहुंच सकता है की  लक्ष्य  प्राप्ति हेतु व्यक्ति वह समूह में सकरात्मक व नकारात्मक प्रक्रिया चल रही है ।
  10. परानुभूति: परानुभूति का आशय है कि किसी व्यक्ति द्वारा अन्य किसी व्यक्ति के स्थान पर स्वयं  रखकर उसके अनुभव   को महसूस करना
  11. आत्म नियंत्रण: समाजिक कार्यकर्ता में आत्म नियंत्रण एक प्रमुख अंग हो सकते हैं । इसके द्वारा अपने लक्ष्य तक पहुंचा जा सकता है । सामाजिक कार्यकर्ताओं में आत्म नियंत्रण की भावना अत्यंत आवश्यक होती है ।
  12. कार्यक्रम के विकास की क्षमता: कार्यक्रम के निर्माण की क्षमता सेवार्थी  के विकास कार्यक्रम के निर्माण की आवश्यकता अनुसार होनी चाहिए सेवार्थी का चिंतन प्रक्रिया से खामियां को प्रकट हो सके उसका निवारण  करना समाधि कार्यकर्ता की भूमिका समाज ।

ये गुण सामाजिक कार्यकर्ता के काम में सफलता और समाज सेवा में उनके प्रभाव को बढ़ाते हैं।

समाजिक कार्यकर्ता की भूमिका

समाजिक कार्यकर्ता एक व्यक्ति है जो समाज में सकारात्मक परिवर्तन और समाज सेवा के क्षेत्र में निरंतर कार्य करता है। उनकी भूमिका निम्नलिखित चीजों पर आधारित होती है:

  1. समाज सेवा: समाजिक कार्यकर्ता का मुख्य काम समाज के विभिन्न वर्गों और समुदायों में सेवा प्रदान करना होता है। वे गरीब, बेरोजगार, वृद्ध, बाल विकास, महिला सशक्तिकरण, शिक्षा, स्वास्थ्य और अन्य समाजिक मुद्दों के लिए काम करते हैं।
  2. समस्याओं का पहचान और समझ: समाजिक कार्यकर्ता की प्रमुख भूमिका में से एक है, समाज में उत्पन्न होने वाली समस्याओं को पहचानना और समझना। यह उन्हें समस्याओं के मूल कारणों को समझने और उन्हें समाधान करने के लिए उपाय ढूंढने में मदद करता है।
  3. संचार: समाजिक कार्यकर्ता को समाज के सदस्यों तक संदेश पहुंचाने और समस्याओं के समाधान के लिए संबंध बनाने के लिए अच्छे संचार कौशल की आवश्यकता होती है।
  4. योजना बनाना और कार्य: समाजिक कार्यकर्ता को समाज सेवा के लिए योजना बनाने और कार्य करने की क्षमता होनी चाहिए। वे समस्याओं के लिए नीतियों और कार्यक्रमों का विकास करके समाधान के प्रति कदम उठाते हैं।
  5. संसाधन उपयोग: समाजिक कार्यकर्ता को समाज सेवा के लिए संसाधनों का उचित उपयोग करना आता होना चाहिए। इन्हें सामाजिक संगठनों, सरकारी योजनाओं, और आर्थिक संसाधनों के बारे में जानकारी होती है जिससे वे समाज के लाभार्थियों के लिए उपयुक्त सेवाएं प्रदान कर सकते हैं।
  6. समाज में जागरूकता फैलाना: समाजिक कार्यकर्ता को अपने काम के माध्यम से समाज में जागरूकता फैलाने और लोगों को समस्याओं का समाधान करने के लिए सक्षम बनाने की भी जिम्मेदारी होती है।
  7. सामाजिक न्याय: समाजिक कार्यकर्ता को अपने काम में सामाजिक न्याय को बनाए रखने और विभिन्न समाजिक समस्याओं के खिलाफ लड़ाई लड़ने की भी जिम्मेदारी होती है।

समाजिक कार्यकर्ता समाज में सकारात्मक परिवर्तन और समाज सेवा को अपने माध्यम से प्रोत्साहित करते हैं, जो समाज के विकास और समृद्धि में महत्वपूर्ण योगदान प्रदान करता है।

समाजिक कार्यकर्ता के विशेष गुण क्यूँ होने चहिये

समाजिक कार्यकर्ता के विशेष गुणों की महत्वपूर्णता उनके कार्यक्षेत्र में सफलता और प्रभावशाली समाजिक परिवर्तन के लिए होती है। निम्नलिखित गुण सामाजिक कार्यकर्ता के लिए आवश्यक होते हैं:

  1. उदारता और सहानुभूति: सामाजिक कार्यकर्ता को उदार और सहानुभूति भावना रखनी चाहिए, ताकि वे दूसरों की समस्याओं को समझ सकें और उन्हें समाधान के लिए सही मार्गदर्शन कर सकें।
  2. संवेदनशीलता: सामाजिक कार्यकर्ता को संवेदनशील होने की आवश्यकता होती है, ताकि वे लोगों के दुख-दर्द और चुनौतियों को समझ सकें और उन्हें सहायता प्रदान कर सकें।
  3. संवाद कौशल: सामाजिक कार्यकर्ता को अच्छे संवाद कौशल का होना चाहिए, जिससे वे लोगों के साथ सहजता से संवाद कर सकें और उनकी जरूरतों को समझ सकें।
  4. धैर्य और समर्थन: सामाजिक कार्यकर्ता को धैर्य और समर्थन का मनोवृत्ति होना चाहिए, ताकि वे लोगों की समस्याओं को समय और प्रयास से समाधान कर सकें।
  5. योजनाबद्धता: सामाजिक कार्यकर्ता को योजनाबद्ध होना चाहिए, ताकि वे लोगों के समस्याओं का समाधान करने के लिए विशेष योजना बना सकें।
  6. समाजसेवा की भावना: सामाजिक कार्यकर्ता को समाजसेवा करने की भावना होनी चाहिए, जिससे वे निःस्वार्थ भाव से लोगों की सहायता कर सकें।
  7. संगठनात्मक क्षमता: सामाजिक कार्यकर्ता को संगठनात्मक क्षमता होनी चाहिए, ताकि वे विभिन्न समाजसेवा कार्यक्रमों को संगठित और सफल तरीके से नियंत्रित कर सकें।
  8. नैतिकता: सामाजिक कार्यकर्ता को नैतिक और ईमानदार होने की आवश्यकता होती है, ताकि वे अपने काम में सच्चाई और न्याय का पालन कर सकें।
  9. लोगों की आवाज़ को सुनने की क्षमता: सामाजिक कार्यकर्ता को लोगों की आवाज़ को सुनने की क्षमता होनी चाहिए, ताकि वे उनके बोले गए शिकायतों और समस्याओं को समझ सकें और उन्हें समाधान कर सकें।
  10. सहज शिकायत वार्तालाप: सामाजिक कार्यकर्ता को सहज शिकायत वार्तालाप करने की क्षमता होनी चाहिए, ताकि वे लोगों के समस्याओं को सही समय पर समझ सकें और उन्हें उचित समाधान प्रदान कर सकें।

FAQs

  1. सामाजिक कार्यकर्ता के गुण क्या होते हैं?
    • समर्पणभाव, संवेदनशीलता, संवाद कौशल, सहयोगिता, नैतिकता और समस्याओं के समाधान की क्षमता।
  2. सामाजिक कार्यकर्ता का मुख्य कार्य क्या होता है?
    • सामाजिक कार्यकर्ता का मुख्य कार्य समाज में सेवा प्रदान करना और समाज के विकास के लिए काम करना होता है।
  3. सामाजिक कार्यकर्ता की भूमिका क्या है?
    • सामाजिक कार्यकर्ता की भूमिका समाज के विभिन्न वर्गों और समुदायों के लिए सेवा प्रदान करने, समस्याओं का समाधान करने और समाज में जागरूकता फैलाने की है।
  4. सामाजिक कार्यकर्ता की योग्यता क्या होती है?
    • सामाजिक कार्यकर्ता को संवेदनशीलता, संचार कौशल, संसाधन उपयोग, और संगठनात्मक क्षमता जैसी योग्यताएं होती हैं।
  5. सामाजिक कार्यकर्ता का उद्देश्य क्या होता है?
    • सामाजिक कार्यकर्ता का उद्देश्य समाज में सकारात्मक परिवर्तन और समाज सेवा के माध्यम से समाज के विकास को सुनिश्चित करना होता है।
  6. समाजिक कार्यकर्ता की भूमिका क्या है?
    • समाजिक कार्यकर्ता समाज में सेवा प्रदान करने वाले व्यक्ति होते हैं, जो समाज के विभिन्न समस्याओं का समाधान करते हैं और समाज के विकास को समर्थन करते हैं।
  7. समाजिक कार्यकर्ता क्या काम करते हैं?
    • समाजिक कार्यकर्ता समाज में गरीब, बेरोजगार, वृद्ध, बाल विकास, महिला सशक्तिकरण, शिक्षा, स्वास्थ्य और अन्य समाजिक मुद्दों के लिए काम करते हैं।
  8. समाजिक कार्यकर्ता कौन-कौन से क्षेत्रों में काम करते हैं?
    • समाजिक कार्यकर्ता शिक्षा, स्वास्थ्य, पर्यावरण, मानवाधिकार, संगठनिक समारोह, समुदाय विकास, बाल संरक्षण, महिला सशक्तिकरण, और गरीबी निवारण जैसे विभिन्न क्षेत्रों में काम करते हैं।
  9. समाजिक कार्यकर्ता की योग्यता क्या होती है?
    • समाजिक कार्यकर्ता को संवेदनशीलता, संचार कौशल, नैतिकता, संगठनात्मक क्षमता, और समस्याओं के समाधान की क्षमता होनी चाहिए।
  10. समाजिक कार्यकर्ता के काम का उद्देश्य क्या होता है?
    • समाजिक कार्यकर्ता का प्रमुख उद्देश्य समाज के

लेखक परिचय

समाजकार्य के अंतर्गत किये जाने वाले कार्य एवं समाजिक कार्यकर्ता के गुण एवं भूमिका

यह लेख प्रोफेसर (डॉ) ऋचा यादव द्वारा आपके लिये विशेष रूप से लिखा गया है I प्रोफेसर ऋचा यादव, छत्तीसगढ़ के बिलासपुर शहर में रहने वाली लेखिका और वर्तमान में डॉक्टर सी व्ही रमन् विश्वविद्यालय, कोटा बिलासपुर में समाजकार्य एवं समाजशास्त्र विभाग में प्रोफेसर हैं I

आपके अनेक शोध व पत्र पत्रिकाएं शोध पत्रिकाओं में प्रकाशित हो चुके हैं इसी प्रकार एक संवेदनशील कथाकार और कवित्री के रूप में स्थापित हैं दिल्ली तथा अनेक संस्थानों में निकलने वाली पत्रिका में प्रकाशित हो चुकी है तथा उनकी 04 लधुकथा का संग्रह रायपुर से प्रकाशित हो चुकी है I जिनके अंतर्गत अरविंद सोसाइटी द्वारा सामाजिक और समुदायीक कार्यहेतु सम्मान प्राप्त हैं, अक्षर वार्ता अंतरराष्ट्रीय शोध पत्रिका में कृष्ण वासंती शैक्षणिक संस्थान उज्जैन के द्वारा अवगत अवार्ड 2021 सम्मान तथा लेखन के क्षेत्र में भी अनेक सम्मानों से यह सम्मानित हो चुकी हैं I

By Admin