Sun. Jun 16th, 2024
field work in social workfield work in social work

समाज कार्य में फील्ड वर्क एक महत्वपूर्ण और अपरिहार्य अंग है। यह वह प्रक्रिया है जिसमें समाज के समस्याओं को सीधे और निकटस्थ स्तर पर समझने और समाधान करने का काम किया जाता है।

फील्ड वर्कर्स समाज में अधिकारियों, अभिभावकों, और विभिन्न समुदायों के साथ संपर्क करते हैं और उनकी जरूरतों को समझने का प्रयास करते हैं। इसके माध्यम से वे समस्याओं का पता लगाने, विश्लेषण करने, और सही समाधान तक पहुंचाने में मदद करते हैं। फील्ड वर्क द्वारा, समाज कार्यकर्ता लोगों की समस्याओं को समझते हैं और समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाने के लिए कदम उठाते हैं।

समाज कार्य में फील्ड वर्क
sustainable communities

समाज कार्य में फील्ड वर्क क्या है ?

समाज कार्य, एक सामाजिक प्रक्रिया है जो समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाने और समस्याओं का समाधान करने के लिए किया जाता है। इसका मुख्य उद्देश्य समाज में सामाजिक न्याय, समाजिक समरसता, सामाजिक समृद्धि, और सामाजिक समृद्धि को सुनिश्चित करना होता है। समाज कार्य समाज के विभिन्न वर्गों, समूहों, संस्कृतियों, और संस्कृति के व्यक्तियों की मदद करता है जो सामाजिक, आर्थिक, शैक्षिक, या स्वास्थ्य संबंधित समस्याओं का सामना कर रहे हैं । समाज कार्य समाज के हित में निष्पक्षता और समर्पण के साथ किया जाता है।

समाज कार्य में फील्ड वर्क एक महत्वपूर्ण पहलू है जो सामाजिक सेवा और समाज कल्याण के क्षेत्र में काम करते समझे जाते हैं। इसमें संबंधित सामाजिक विषयों पर संगठन, समाज या सरकारी निकायों के तहत विभिन्न गतिविधियों को तस्वीर बनाने के लिए शामिल किया जाता है। फील्ड वर्क विशेष रूप से समाजिक सेवा क्षेत्र में संलग्न संगठन या गैर-सरकारी संगठनों के लिए महत्वपूर्ण होता है जो समुदाय के लाभार्थ नागरिकों को सहायता प्रदान करने का कार्य करते हैं।

फील्ड वर्क या क्षेत्र कार्य का आशय है किसी स्थान विशेष का चयन करके जानकारी/डाटा (आंकड़े) एकत्रित करना या कार्य करना होता है।

शैक्षणिक कार्यक्रम में क्षेत्र कार्य से मतलब उन कार्यो से या अभ्यास से होता है जिसे एक विद्यार्थी अपने पाठ्यक्रम से संबंधित थियोरेटिकल नोलेज को स्थान विषेष में जाकर अभ्यास करके सीखता है ।

उदाहरण के तौर पर – हम समाज कार्य में विद्यार्थी केस वर्क के बारे में पढ़ते है और उसी को व्यवहारिक रूप से समझने के लिए उसका अभ्यास करने के लिए केस स्टडी के दौरान एक सेवार्थी का चयन करते है और उसका अध्ययन करते है। अध्ययन के दौरान सेवार्थी के बारे में जानते है, उससे संबंधित सभी जानकारी जैसे उसकी पारिवारिक स्थिति, आर्थिक स्थिति, सामाजिक स्थिति, शैक्षणिक स्थिति, उसकी समस्याओं आदि जानकारी एकत्रित करते है और इन जानकारियों को हम इन सभी को ध्यान में रखते है जब हमें उसका व्यवहारिक रूप से करते है।

field work

समाज कार्य के उदाहरण

  1. गांवों में स्वच्छता अभियान: फील्ड वर्कर्स गांवों में जाकर स्वच्छता अभियान को संचालित करते हैं। उन्हें लोगों को स्वच्छता के महत्व के बारे में जागरूक करते हैं और सड़कों, गलियों, और सार्वजनिक स्थलों की सफाई के लिए काम करते हैं।
  2. बालविकास केंद्र: फील्ड वर्कर्स बालविकास केंद्रों में जाकर बच्चों के शिक्षा, संगठना, और संबंधों का विकास करने में मदद करते हैं। वे बच्चों को सर्वेक्षण करते हैं और उन्हें शिक्षा, स्वास्थ्य, और सामाजिक सुरक्षा के लिए सहायता प्रदान करते हैं।
  3. बुजुर्ग व्यक्तियों: फील्ड वर्कर्स बुजुर्ग व्यक्तियों हेतु सेवा प्रदान करते हैं। वे बुजुर्ग व्यक्तियों को उनकी आवश्यकताओं के अनुसार चिकित्सा सेवा, पेंशन योजनाएं और दैनिक गतिविधियों में सहायता प्रदान करते हैं।
  4. गरीबी हटाने के योजनाएं: फील्ड वर्कर्स गरीबी कम करने और गरीबों को समाज में शामिल करने के लिए विभिन्न सरकारी और गैर-सरकारी योजनाओं के तहत काम करते हैं। उन्हें गरीब परिवारों के साथ संपर्क स्थापित करने और उन्हें सबसे उपयुक्त योजनाओं के लिए पंजीकृत करने में मदद की जाती है।
  5. महिला सशक्तिकरण: फील्ड वर्कर्स महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए काम करते हैं। उन्हें महिलाओं को आर्थिक रूप से स्वावलंबी बनाने, उन्हें स्वयंसहायता गठबंधनों में शामिल करने और महिला संगठनों के गठन में सहायता प्रदान करने का काम किया जाता है।

फील्ड वर्क में क्या-क्या किया जाता है ?

  • एजेंसी विजिट
  • केस स्टडी
  • रूरल कैंप
  • ब्लाक प्लेसमेंट/ समर प्लेसमेंट / इंटर्नशिप

इंटर्नशिप एक प्रोफेशनल सीखने का अनुभव है जो एक छात्र की पढ़ाई के क्षेत्र या करियर की रुचि से संबंधित स्किल्सए प्रैक्टिकल कार्य प्रदान करता है। एक इंटर्नशिप एक छात्र को करियर की खोज और विकास और नए कौशल सीखने का अवसर देता है। यह एम्प्लोयी को वर्कप्लेस में नए विचार और ऊर्जा लानेए प्रतिभा विकसित करने और भविष्य के फुल टाइम कर्मचारियों के लिए संभावित रूप से एक कनेक्शंस बनाने का अवसर प्रदान करता है। इंटर्नशिप का महत्व की बात हो तो सबसे पहला पॉइंट है कि ये आपके फील्ड को बेहतर समझने के लिए इंटर्नशिप आपकी खास मदद करती है।

इंटर्नशिप आपको जरूरी प्रैक्टिकल अनुभव देती है साथ ही आप ये भी समझ पाते हैं कि आपके डिग्री कोर्स में मिलने वाली शिक्षा को आप रियल लाइफ सिचुएशन में किस तरह लागू कर सकते हैं। साथ ही आपकी एकेडमिक योग्यता कैसे काम आ सकती है।

व्यापार की शर्तों और एजुकेशनल क्वालिफिकेशन में अंतर को एम्प्लॉयर्स लगातार महसूस करते हैं। इस अंतर को इंटर्नशिप के जरिए खत्म किया जा सकता है क्योंकि इसमें आप अपने इंडस्ट्री एक्सपीरियेंस को निखार सकते हैं और आपके मन के फील्ड में आपको वास्तविक दुनिया का एक्सपोजर होता है।

इंटर्नशिप आपको न केवल प्रोफेशनलिज्म विकसित करने में मदद करती हैए बल्कि इससे सेल्फ ग्रोथ में भी सहयोग मिलता है। इसलिए भी इंटर्नशिप का महत्व बहुत है। आपमें तमाम गुण जैसेए इंटीग्रिटीए कमिटमेंट और सेल्फ मोटिवेशन विकसित करने लगते हैं।

इंटर्नशिप के दौरान आपको ढेर सारे कार्य करने होते हैंए इससे आपकी प्रबंधन क्षमता मे इजाफा होता है और टीम के साथ काम करने से आप अपनी इंटरपर्सनल और कम्यूनिकेशन स्किल में सुधार ला सकते हैं साथ ही आप इसमें टीम वर्क के महत्व को भी समझेंगे।

इसके साथ ही आप बिना फुल टाइम जॉब के कई तरह के ऑप्शंस की तलाश कर सकते हैं। आप अलग अलग इंटरप्राइजेज में कई तरह की इंटर्नशिप कर सकते हैं जिससे आपको अपने लिए बेहतर फील्ड का चुनाव करने में मदद मिलती है।

प्रेक्टिकल नॉलेज होती है, किसी संस्था में इंटर्न की तरह जाते है और सीखने को मिलता है कि किस तरह से फील्ड में काम किया जाता है। क्लास में जो हम पढते है उससे प्रेक्टिकल नॉलेज नहीं होती है इससे हम एज ए एम्प्लोयी की तरह वर्क करते है और सीखते है।

इंटर्नशिप अगर पढ़ते समय की जाती है तो यह 1 से 2 महीने की होती है।

स्टडी टूर

रिसर्च वर्क

क्षेत्र कार्य में किन – किन बातों का ध्यान रखना चाहिए

1.       क्षेत्र कार्य में जाने से पूर्व योजना का निर्माण करना

2.       समय का ध्यान

3.       संबंध स्थापित करना

4.      डोक्यूमेंटेषन

5.       रिकोर्डिंग अभिलेखन

6.      मार्गदर्शन

समाज कार्य में क्षेत्र कार्य के प्रमुख उद्देश्य

  1. समस्याओं का पता लगाना और विश्लेषण करना: फील्ड वर्कर्स की प्रमुख उपलब्धि है समस्याओं का अध्ययन करना और उनके पीछे के कारणों को समझना।
  2. समुदायों के साथ संवाद स्थापित करना: फील्ड वर्कर्स समुदाय के सदस्यों के साथ संपर्क करते हैं और उनकी जरूरतों को समझने की कोशिश करते हैं।
  3. समस्याओं के समाधान के लिए योजना बनाना: फील्ड वर्कर्स समस्याओं के समाधान के लिए योजना बनाते हैं और उन्हें कारगर बनाने के लिए काम करते हैं।
  4. समाज में जागरूकता बढ़ाना: फील्ड वर्कर्स समाज में जागरूकता बढ़ाने के लिए काम करते हैं और लोगों को समस्याओं के समाधान के लिए सक्रिय बनाते हैं।
  5. व्यक्तिगत समस्याओं का समाधान करना: फील्ड वर्कर्स व्यक्तिगत समस्याओं के समाधान के लिए सहायता प्रदान करते हैं और मार्गदर्शन करते हैं।
  6. शिक्षा और स्वास्थ्य सेवाओं की पहुंच बढ़ाना: फील्ड वर्कर्स शिक्षा और स्वास्थ्य सेवाओं की पहुंच को बढ़ाने के लिए प्रयास करते हैं।
  7. समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाना: फील्ड वर्कर्स सकारात्मक परिवर्तन लाने के लिए समाज में अपने कदम रखते हैं।
  8. असहाय व्यक्तियों की मदद करना: फील्ड वर्कर्स असहाय व्यक्तियों की मदद करते हैं और उन्हें समाज में समाहित करने के लिए संबोधित करते हैं।
  9. योजनाओं के प्रभाव का मूल्यांकन करना: फील्ड वर्कर्स योजनाओं के प्रभाव का मूल्यांकन करते हैं और उन्हें सुधारने के लिए सुझाव देते हैं।
  10. समाज को आदर्श संस्थान के रूप में स्थापित करना: फील्ड वर्कर्स समाज को आदर्श संस्थान के रूप में स्थापित करने के लिए काम करते हैं और लोगों में सकारात्मक परिवर्तन लाने में सहायता प्रदान करते हैं।

समाज कार्य में क्षेत्र कार्य के विभिन्न प्रकार

ये प्रकार निम्नलिखित हैं:

  1. समुदाय क्षेत्र कार्य: इसमें समुदाय के सदस्यों के साथ संवाद किया जाता है और उनकी जरूरतों को समझने का प्रयास किया जाता है। समुदाय फील्ड वर्कर्स समाज के समस्याओं का समाधान करने के लिए काम करते हैं।
  2. विकास क्षेत्र कार्य: इसमें विभिन्न विकास कार्यक्रमों के अंतर्गत लोगों के साथ संवाद करने और उन्हें सक्षम बनाने का प्रयास किया जाता है। विकास फील्ड वर्कर्स लोगों की योजनाओं का मूल्यांकन करते हैं और उन्हें लाभान्वित करने के लिए सहायता प्रदान करते हैं।
  3. संगठनात्मक क्षेत्र कार्य: इसमें समाज के विभिन्न संगठनों और संस्थानों के साथ सहयोग किया जाता है। संगठनात्मक फील्ड वर्कर्स विभिन्न कार्यक्रमों को समय-समय पर आयोजित करने में सहायता प्रदान करते हैं।
  4. सामाजिक अनुसंधान: सामाजिक अनुसंधान फील्ड वर्क का एक अहम प्रकार है। इसमें समाज के विभिन्न मुद्दों पर शोध किया जाता है और समस्याओं के पीछे के कारणों को समझने में मदद मिलती है।
  5. कानूनी फील्ड वर्क: कानूनी फील्ड वर्क में समाज के विभिन्न कानूनी मुद्दों पर काम किया जाता है। कानूनी फील्ड वर्कर्स समाज के असहाय व्यक्तियों को कानूनी सहायता प्रदान करते हैं और उन्हें उनके अधिकारों के बारे में जागरूक करते हैं।
  6. स्वास्थ्य फील्ड वर्क: स्वास्थ्य फील्ड वर्कर्स स्वास्थ्य समस्याओं के समाधान के लिए काम करते हैं और लोगों को स्वस्थ रहने के लिए जागरूकता फैलाते हैं।
  7. शिक्षा फील्ड वर्क: शिक्षा फील्ड वर्क में बच्चों की शिक्षा के प्रोत्साहन के लिए काम किया जाता है और उन्हें शिक्षा के महत्व के बारे में जागरूक किया जाता है।
  8. बाल संरक्षण फील्ड वर्क: बाल संरक्षण फील्ड वर्कर्स बच्चों की सुरक्षा और संरक्षण के लिए काम करते हैं और उन्हें उनके अधिकारों के बारे में जागरूक करते हैं।
  9. महिला सशक्तिकरण फील्ड वर्क: महिला सशक्तिकरण फील्ड वर्कर्स महिलाओं के समृद्धिकरण के लिए काम करते हैं और उन्हें समाज में अपनी आवाज़ बुलंद करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं।
  10. वृद्धा कल्याण फील्ड वर्क: वृद्धा कल्याण फील्ड वर्कर्स बुजुर्गों की सेवा और समर्थन के लिए काम करते हैं और उन्हें समाज में सम्मानपूर्वक जीवन जीने की सहायता प्रदान करते हैं।

By Admin