Sat. Jun 15th, 2024
field work in social workfield work in social work

समाज कार्य के उद्देश्य क्या है?

समाज कार्य के उद्देश्य विभिन्न सामाजिक समस्याओं का समाधान करना, समाज में सुधार लाना, समाज के सभी वर्गों और व्यक्तियों के लिए समान अवसर उपलब्ध कराना, सभी लोगों की भलाई और उन्नति का समर्थन करना आदि होते हैं। इन उद्देश्यों के माध्यम से समाज कार्य, समाज में बेहतरी, समृद्धि और सामाजिक न्याय को सुनिश्चित करता है।

समाज कार्य के उद्देश्य
समाज कार्य के उद्देश्य

समाज कार्य के प्रमुख उद्देश्य निम्नलिखित हैं:

  1. समाज में शिक्षा के प्रसार का समर्थन करना और शिक्षित युवा तथा बच्चों को समर्थ नागरिक बनाना।
  2. गरीब, वंचित और पिछड़े वर्गों की समृद्धि और सामाजिक उत्थान के लिए कदम उठाना।
  3. बेरोज़गारी, गरीबी, बाढ़, अकाल, आपदा जैसी समस्याओं का समाधान करना।
  4. स्वच्छता, जल संरक्षण, पर्यावरण संरक्षण और प्राकृतिक संसाधनों की सुरक्षा प्रोत्साहित करना।
  5. रोजगार के अवसरों को बढ़ावा देना और आर्थिक समृद्धि के लिए काम करना।
  6. महिलाओं के समाज में सम्मान, सामाजिक अधिकार और समानता को प्रोत्साहित करना।
  7. दिव्यांगता के लिए समाज में उपयुक्त व्यवस्था और सुविधाएं प्रदान करना।
  8. बौद्धिक, सांस्कृतिक और आध्यात्मिक विकास को प्रोत्साहित करना।
  9. बाल विवाह, दहेज़, जाति व्यवस्था, धर्म आधारित भेदभाव जैसे सामाजिक बुराइयों का खिलाफ लड़ाई उठाना।
  10. नशे की लत से लड़ाई और युवा पीढ़ी को नशे मुक्त बनाने के लिए काम करना।
  11. खानपान सुरक्षितता, खाद्य सुरक्षा और गरीबों के लिए पोषण सहायता उपलब्ध कराना।
  12. बुढ़ापे में जनसमस्याओं का समाधान और वृद्धजनों के लिए देखभाल उपलब्ध कराना।
  13. सामाजिक संरचना में सुधार करके भारतीय समाज को समृद्ध और समरसता पूर्वक बनाना।
  14. समाज में लोगों के बीच सद्भाव, एकता और अनुशासन को प्रोत्साहित करना।
  15. गांवों और शहरों के विकास के लिए योजनाएं बनाना और समाज के सभी वर्गों के लिए समान अवसर उपलब्ध करना।
  16. यह उद्देश्य समाज कार्य के माध्यम से समाज में बेहतरी, समृद्धि, सामाजिक न्याय, और समरसता को प्रोत्साहित करने का प्रयास करते हैं।
  17. समाज में विकास का समर्थन: समाज कार्य समाज के विभिन्न वर्गों के विकास को सुनिश्चित करने में मदद करता है। यह शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार, आवास और आर्थिक सहायता जैसे क्षेत्रों में काम करता है।
  18. समाज में सामाजिक न्याय का सुनिश्चित करना: समाज कार्य न्यायपूर्ण समाज की स्थापना के लिए काम करता है, जो सभी व्यक्तियों को समान अवसर देता है और उन्हें दिव्यांगता, जाति, धर्म, लिंग, और आर्थिक स्थिति के आधार पर भेदभाव मुक्त करता है।
  19. विभिन्न सामाजिक समस्याओं का समाधान: समाज कार्य समाज में उत्पन्न होने वाले संघर्षों, समस्याओं और विवादों का समाधान करता है और लोगों के बीच समरसता और सद्भाव का विकास करता है।
  20. स्वयंसेवा और सेवाभाव को प्रोत्साहित करना: समाज कार्य स्वयंसेवा और सेवाभाव को बढ़ावा देता है, जो लोगों में एक-दूसरे की मदद करने और समाज के लाभ के लिए सक्रिय भागीदारी को बढ़ावा देता है।
  21. सामाजिक संरचना में सुधार करना: समाज कार्य सामाजिक संरचना में सुधार करने में सहायक होता है जो समाज को उत्थान में मदद करता है और उसके सभी अंगों को समान विकास का लाभ प्रदान करता है।
समाज कार्य के प्रमुख उद्देश्य समझने हेतु

समाज कार्य के उद्देश्य विभिन्न समाजवादी संगठनों, गैर-सरकारी संगठनों, निजी संस्थानों और सरकारी उपायों के माध्यम से प्राप्त किए जाते हैं। ये उद्देश्य समाज में समृद्धि, समरसता, और समाजिक न्याय को प्रमुखता देने का प्रयास करते हैं।

विभिन्न भारतीय विद्वानों द्वारा बताये गये समाज कार्य के उद्देश्य

विभिन्न विद्वानों ने समाज कार्य के उद्देश्यों को अलग-अलग रूपों में प्रस्तुत किया हैं। नीचे कुछ प्रसिद्ध विद्वानों द्वारा प्रस्तुत समाज कार्य के उद्देश्यों के उदाहरण दिए गए हैं:

  1. महात्मा गांधी: महात्मा गांधी ने समाज कार्य का मुख्य उद्देश्य सामाजिक न्याय, स्वयंसेवा, विश्वशांति, और अहिंसा को सशक्त बनाना रखा। उन्होंने गांधिवादी चिंतन के माध्यम से भारतीय समाज के विकास के लिए अपने जीवन का समर्थन किया।
  2. बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर: डॉ. बी. आर. अम्बेडकर ने समाज कार्य के माध्यम से विशेष रूप से दलित समुदाय के लिए सामाजिक न्याय, समानता, और समरसता के लिए संघर्ष किया। उन्होंने समाज में जाति व्यवस्था के खिलाफ लड़ाई उठाई और भारतीय संविधान के निर्माण में अहम योगदान दिया।
  3. रवींद्रनाथ टैगोर: बंगाली कवि रवींद्रनाथ टैगोर ने समाज कार्य के उद्देश्यों में साहित्य, शिक्षा, सांस्कृतिक विकास और विश्वविख्यात विश्वविद्यालय शांतिनिकेतन की स्थापना करना शामिल थे। उन्होंने समाज में भारतीय विरासत और संस्कृति को प्रोत्साहित किया।
  4. माता टेरेसा: माता टेरेसा ने समाज कार्य के माध्यम से गरीब, बेसहारा और बीमार लोगों की सेवा की। उन्होंने अशक्त व्यक्तियों के लिए आश्रय स्थापित किए और सामाजिक सेवा में अपने पूरे जीवन का समर्थन किया।
  5. स्वामी विवेकानंद: स्वामी विवेकानंद ने समाज कार्य के माध्यम से युवाओं के लिए प्रेरणा और उन्नति का प्रचार-प्रसार किया। उन्होंने धार्मिक एकता, सामाजिक न्याय, और मानवता के महत्व को उजागर किया।

ये विद्वान व्यक्तित्व समाज कार्य के क्षेत्र में अपने अनूठे योगदान के लिए प्रसिद्ध हैं और उनके उद्देश्य समाज के विकास और सामाजिक न्याय को सुनिश्चित करने को समर्थन करते हैं।

विभिन्न समाजशात्रियों द्वारा प्रस्तुत समाज कार्य के उद्देश्य इस प्रकार हैं

बी जी खेर के अनुसार

समाज कार्य का उद्देश्य, जैसा कि आमतौर पर समझा जाता है, सामाजिक अन्याय को दूर करना, पीड़ा को दूर करना, यातना को रोकना और समाज की कमजोर समस्याओं को अपने और अपने परिवार के पुनर्वास में मदद करना है। सारांश में १. भौतिक आवश्यकता २. बीमारी ३. अज्ञानता ४. मलिनता ५. निष्कियता की पांच दानवाकार बुराइयों से लड़ने के लिए करना है।

बी जी खेर के अनुसार

पिटमर के अनुसार, समाज कार्य के दो प्रमुख उद्देश्य हैं:-

पहला, व्यक्तियों की उन कठिनाइयों को दूर करना जिन्हें वे समुचित उपयोग में अनुभव करते हैं और दूसरा लोगों के कल्याण के लिए उपलब्ध सामुदायिक संसाधनों की व्याख्या करना।

पिटमर के अनुसार

हैमिल्टन के अनुसार, समाज कार्य के दो प्रमुख उद्देश्य हैं;

  1. आर्थिक और शारीरिक कल्याण या स्वास्थ्य और जीवन स्तर का अच्छा स्तर।
  2. संतोषजनक संबंधों और अनुभव के माध्यम से सामाजिक विकास के अवसर।

ऐण्डरसन के अनुसार

समाज कार्य लोगों को विशिष्ट इच्छाओं और क्षमताओं के अनुसार तथा समुदाय की इच्छाओं एवं क्षमताओं के अनुकूल सनन्तोषजनक संबंधों एवं जीवन के मानदण्डों को प्राप्त करने में व्यक्तियों अथवा समूहों के रुप में उनकी सहायता करने के उद्देश्य से प्रदान की गयी व्यवसायिक सेवा है।

ऐण्डरसन

फ्रीडलैण्डर के अनुसार

समाज कार्य का उद्देश्य व्यक्तियों के कल्याण और समाज जिसमें वे रहते हैं, के कल्याण में आपसी समायोजन करना है।

फ्रीडलैण्डर

रॉस के अनुसार

समाज कार्य की सभी प्रणालियों के उद्देश्य समान हैं। यह सभी विकास बाधाओं को दूर करने या संभावनाओं की रिहाई, एक अभिन्न इकाई के रूप में कार्य करने की क्षमता आदि में आंतरिक संसाधनों के पूर्ण विकास से संबंधित है। सभी कार्यकर्ता इस अंतिम उद्देश्य की खोज में लगे हुए हैं।

रॉस

ब्राउन ने समाज कार्य के 4 उद्देश्यों का उल्लेख किया है-

  1. भौतिक सहायता करना।
  2. समायोजन स्थापित करने में सहायता प्रदान करना।
  3. मानसिक समस्याओं का समाधान करना।
  4. निर्बल वर्ग के लोगों को अच्छे जीवन स्तर की सुविधा उपलब्ध करवाना ।

10 FAQs संक्षिप्त उत्तर के साथ

समाज कार्य क्या है?

उत्तर: समाज कार्य समाज में सुधार के लिए विभिन्न कार्यों और अभियानों का संचालन करने की प्रक्रिया है।

समाज कार्य के उद्देश्य क्या हैं?

उत्तर: समाज कार्य के उद्देश्य समाज में समृद्धि, सामाजिक न्याय, समरसता और सामाजिक उत्थान को सुनिश्चित करना है।

समाज कार्य क्यों महत्वपूर्ण है?

उत्तर: समाज कार्य समाज को सुधारने और समृद्धि के मार्ग में मदद करता है और समाज के सभी वर्गों को लाभ प्रदान करता है।

समाज कार्य का मुख्य उद्देश्य क्या है?

उत्तर: समाज कार्य का मुख्य उद्देश्य समाज में समृद्धि और सामाजिक न्याय को सुनिश्चित करना है।

समाज कार्य किस प्रकार किया जाता है?

उत्तर: समाज कार्य विभिन्न क्षेत्रों में जैसे शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार, आवास आदि में काम किया जाता है।

समाज कार्य कौन करता है?

उत्तर: समाज कार्य सामाजिक कार्यकर्ता, गैर-सरकारी संगठन, सरकारी निकाय और नेता जैसे व्यक्तियों द्वारा किया जाता है।

समाज कार्य के लाभ क्या हैं?

उत्तर: समाज कार्य से समाज में सुधार होता है, वर्गों को समान अवसर मिलते हैं और लोगों की भलाई होती है।

समाज कार्य किस तरीके से विभाजित है?

उत्तर: समाज कार्य समाज सेवा, शिक्षा, स्वास्थ्य, पर्यावरण, रोजगार आदि क्षेत्रों में विभाजित है।

समाज कार्य में सहायक नगरीय संस्थाएं कौन सी हैं?

उत्तर: सहायक नगरीय संस्थाएं गैर-सरकारी संगठन, अध्ययन संस्थान, नेतृत्व संस्थान और सोशल वर्क संस्थाएं होती हैं।

समाज कार्य के उद्देश्य कैसे प्राप्त किए जाते हैं?

उत्तर: समाज कार्य के उद्देश्य समाज की आवश्यकताओं और समस्याओं के आधार पर निर्धारित किए जाते हैं और सामाजिक संस्थाओं के माध्यम से इन्हें प्राप्त किया जाता है।

10 FAQs अति संक्षिप्त उत्तर के साथ

Q1: सामाजिक कार्य का मुख्य उद्देश्य क्या है?

A1: लोगों का कल्याण ।

Q2: क्या सामाजिक कार्य समानता को बढ़ाने का उद्देश्य रखता है?

A2: हां, इसमें सामाजिक न्याय और समानता की प्रोत्साहना होती है।

Q3: क्या सामाजिक कार्य सामाजिक समस्याओं को संबोधित करता है?

A3: हां, यह सामाजिक समस्याओं को रोकने और कम करने का प्रयास करता है।

Q4: क्या सामाजिक कार्य व्यक्तियों को सशक्त बनाने पर केंद्रित है?

A4: हां, यह व्यक्तियों और समुदायों को सशक्त बनाने का प्रयास करता है।

Q5: क्या सामाजिक कार्य अधिकार संरक्षण का हिस्सा है?

A5: हां, सामाजिक कार्यकर्ता मानवाधिकारों के पक्षधर होते हैं।

Q6: क्या सामाजिक कार्य सामाजिक परिवर्तन को प्रोत्साहित करता है?

A6: हां, यह सकारात्मक समाजिक परिवर्तन के लिए काम करता है।

Q7: क्या सामाजिक कार्य आपातकालीन परिस्थितियों का समर्थन करता है?

A7: हां, यह संकटकाल में समर्थन प्रदान करता है।

Q8: क्या सामाजिक कार्य नीतियों को प्रभावित करता है?

A8: हां, यह नीति वक्ता के रूप में सक्रियता करता है।

Q9: क्या सामाजिक कार्य में परामर्श शामिल होता है?

A9: हां, सामाजिक कार्यकर्ता परामर्श प्रदान करते हैं।

Q10: क्या सामाजिक कार्य समुदाय विकास में योगदान करता है?

A10: हां, इसमें समुदाय विकास के पहलुओं को शामिल किया जाता है।

By Admin